मोटर व्हीकल एक्ट के तहत पुलिस अधिकारी -कर्मचारीयो पर गिरी गाज……पढ़िये रायगढ़ रिपोर्टर

.
एडिशनल एसपी ट्राफिक ने बिना हेल्मेट वाहन चलाते पाये गये पुलिसकर्मियों के वाहनों को किया जप्त

रायगढ़:- रायगढ़ रिपोर्टर

नए मोटर व्हीकल एक्ट के तहत आज पुलिस की कार्रवाई पुलिस वालों पर ही चला। कार्रवाई में बिना हेलमेट के पुलिस वालों पर कार्रवाई से शहर में हड़कम्प मच गया है। आपको बता दे कि इसके पहले पुलिस ने नए मोटर व्हीकल एक्ट के तहत शराब पी कर वाहन चलाने वाले एक व्यक्ति पर 10 हजार का जुर्माना लगा चुकी है। अब जल्द ही बिना हेलमेट सहित अन्य नियमो को लेकर पुलिसिया कार्रवाई आम लोगो पर गिरने वाली है।

दरअसल पुलिस महानिदेशक छत्तीसगढ़ द्वारा राज्य के पुलिसकर्मियों को संशोधित ट्राफिक नियमों का सख्ती से पालन करने के निर्देश विगत दिनों जारी किया गया है । जिले के पुलिस अधिकारी/कर्मचारीगण ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन न करें इसके लिये आज से पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह के दिशा निर्देशन पर ट्राफिक ए.एस.पी. आर.के. मिंज एवं ट्राफिक थाने के अधिकारियों द्वारा शहर के पंजरिप्लान्ट, गांधी प्रतिमा तथा गौशाला के पास बिना हेल्मेट के दुपहिया चलाते पाये गये पुलिसकर्मियों के वाहनो के जप्ती की कार्यवाही की गई है ।

दरअसल ऐसा करने के पीछे पुलिस का आम जनता को सीधा सीधा मेसेज है कि वे भी सावधान हो जाएं और जल्द ही यह कार्रवाई आम लोगो पर भी शुरू होने वाली है। इससे पहले पुलिस महकमा के खिलाफ कार्रवाई कर आने वाले दिनों में नए मोटर व्हीकल एक्ट के तहत कार्रवाई होनी है।

आज शाम तक करीब 30 पुलिस के अधिकारी व कर्मचारी के वाहनों को जप्त किया गया, जप्त वाहनों को थाना यातायात परिसर में रखवाकर कर्मचारियों को पैदल जाने को कहा गया । देर शाम अपनी वाहन थाना लेने आए कर्मचारियों को एडिशनल एसपी ट्रैफिक श्री मिंज द्वारा सख्त हिदायत दिया गया है कि यदि ऐसा करते दोबारा पाए जाते हैं तो एम.व्ही. एक्ट के अलावा विभागीय दंडात्मक कार्यवाही भी की जावेगी । खास बात यह रही कि सिविल कपड़ो में बिना हेल्मेट वाहन चलाते पाये गये कुछ पुलिसकर्मी को भी ए.एस.पी. श्री मिंज ने पहचान कर उनके वाहनों की जप्त किये ।

जिला मुख्यालय में पुलिस अधीक्षक के निर्देशन में यातायात पुलिस द्वारा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक यातायात राजकुमार मिंज के नेतृत्व में पुलिस अधिकारी कर्मचारी जो बिना हेलमेट धारण किए दोपहिया चालन करते हुए पाए गए उनके विरुद्ध मोटर यान अधिनियम के तहत कार्यवाही किया गया एवं भविष्य में दोबारा पकड़े जाने पर प्रकरण सीधे न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत कर दिए जाने संबंधी हिदायत दी गई। यातायात पुलिस द्वारा विशेष अभियान में 35 अधिकारी कर्मचारी के विरुद्ध कार्रवाई कर ₹17500 समन शुल्क रकम वसूल किया गया।