Raigarh Reporter

Latest Online Breaking News

गौठानों को स्वावलंबी बनाना है लक्ष्य-कलेक्टर श्री भीम सिंह ई-कॉमर्स साइट्स पर भी मिलेगा जिले में बना वर्मी कम्पोस्ट

. .

रायगढ़, 28 नवम्बर 2020/ कलेक्टर श्री भीम सिंह ने आजीविका से जुड़े विभागों की बैठक लेकर विभागीय योजनाओं तथा स्थानीय नवाचारों और प्रयासों के तहत जिले में आजीविका संवर्धन के लिये किये जा रहे कार्यों की गहन समीक्षा की। उन्होंने गौठानों में वर्मी कम्पोस्ट निर्माण की समीक्षा की और कहा कि गोधन न्याय योजना के संचालन हेतु गौठानों को स्वावलंबी बनाना हमारा लक्ष्य है इसके लिये सभी सीइओ जनपदों को निर्देशित किया कि अगले 15 दिनों में प्रत्येक विकासखंड में 02 गौठान इस स्थिति में पहुँच जाएँ कि वहां तैयार वर्मी कम्पोस्ट का विक्रय कर गोधन न्याय योजना का संचालन खुद से कर सकें, इसके लिये वर्मी कम्पोस्ट के उपयोग के वैज्ञानिक तरीकों का किसानों के बीच प्रचार-प्रसार के साथ ही बाजार विस्तार करने के लिये पड़ोसी राज्यों में भी संभावनाएं तलाशने व ई-कॉमर्स साइट्स के माध्यम से ऑनलाइन विक्री का सप्लाई चेन विकसित करने के लिये कहा। कलेक्टर श्री सिंह ने मनरेगा के तहत स्वीकृत कार्यों को भी जल्द शुरू करवाने के निर्देश सभी सीईओ जनपदों को देते हुए कहा कि इससे श्रमिकों को नियमित रूप से काम मिलता रहेगा।
* केरल के विशेषज्ञ स्व-सहायता समूह की महिलाओं को देंगे ट्रेनिंग
कलेक्टर श्री भीम सिंह ने जिले में ग्रामीण महिला उद्यमिता को सशक्त बनाने तथा उन्हें प्रशिक्षित करने के लिये केरल से विशेषज्ञ बुलाने की प्लानिंग की है। जो यहाँ कार्यरत महिला स्व-सहायता समूह की महिलाओं को अपना काम स्थापित कर उसे दीर्घजीवी बनाने व अधिक आय सृजित करने के लिये ट्रेनिंग देंगे। इसके लिये आवश्यक व्यवस्थाएं करने के निर्देश जिला पंचायत सीईओ सुश्री ऋचा प्रकाश चौधरी को दिए।
रेशम एक्सपोर्ट हब के रूप में रेडी हो रहा रायगढ़
कलेक्टर श्री भीम सिंह ने जिले को रेशम एक्सपोर्ट हब के रूप में विकसित करने की दिशा में चल रहे कार्यों की समीक्षा की। रेशम विभाग के अधिकारी ने बताया की धरमजयगढ़ वन मंडल में रेशम कीट पालन के लिये प्लांटेशन हेतु 500 हेक्टेयर भूमि का चिन्हांकन कर लिया गया है। वन विभाग और उद्यानिकी विभाग को नर्सरी बनाकर पौधे तैयार करने के निर्देश कलेक्टर श्री सिंह ने दिए। पौधों की सुरक्षा के लिए फेंसिंग का एस्टीमेट तैयार कर प्रस्तुत करने के लिये भी कहा। प्लांटेशन के अतिरिक्त नेचुरल फारेस्ट में भी कुकुन प्रोडक्शन को बढ़ाने के निर्देश दिए। रेशम के धागे तैयार करने के लिये रीलिंग मशीन उपलब्ध करवाते हुए स्व-सहायता समूह और इच्छुक हितग्राहियों को प्रशिक्षण देने की तैयारी भी जल्द पूर्ण करने के लिये निर्देशित किया।
* वन अधिकार पत्र धारियों के आजीविका संवर्धन पर भी है फोकस
वन अधिकार पत्र प्राप्त हितग्राहियों को भी आजीविका मूलक गतिविधियों से जोडऩे के लिये कहा। अब तक कितने हितग्राहियों को स्प्रिंकलर, ड्रिप, मिनी किट, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के तहत राशि और केसीसी से लोन मिला है इसकी जानकारी तैयार कर प्रस्तुत करने के निर्देश उप संचालक कृषि को दिए। इन हितग्राहियों को मनरेगा से कुएं, डबरी, भूमि समतलीकरण का लाभ भी देने के लिये कहा। जिससे ये कृषि के साथ ही अन्य आजीविका संबंधी कार्यों को आगे बढ़ा सकें।
* जवा फूल चावल के मिलिंग के लिये मिलेगी राइस मिल, वन-धन केन्द्रों से भी मिलेगा रोजगार
कलेक्टर श्री सिंह ने बताया कि जवा फूल चावलों खेती को बढ़ावा देने तथा उसकी मार्केटिंग के लिये गठित एफपीओ को 15.15 लाख दिए जा रहे हैं। इसके साथ ही मिलिंग के लिये किसानों को मिनी राइस मिल उपलब्ध करवाने के निर्देश उप संचालक कृषि को दिए ताकि किसान खुद से ही इसकी मिलिंग कर सीधे चावल बेचकर ज्यादा मुनाफा कमाए। स्टोरेज के लिये गोडाउन भी तैयार करवाने के निर्देश दिएण् रागी प्रोसेसिंग प्लांट भी तैयार किया जाना है इसके लिये जिले में रागी का रकबा बढाने के लिये कार्य करने के लिये निर्देशित कियाण् जिले में बनाये जा रहे सभी वन धन केन्द्रों के लिये वनोपज आधारित रोजगार मूलक गतिविधियों की कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश वन मंडलाधिकारियों को दिए। इन केन्द्रों में जहाँ भवन निर्माण अधूरे हैं उन्हें जल्द पूरा करने के निर्देश दिए।
गौठानों में मुर्गी और मछली पालन का बढ़ाया जायेगा दायरा
गावों में मछली पालन बढाने के लिये तालाबों का चिन्हांकन कर पंचायतों के माध्यम से उसका पट्टा आबंटित करने के लिये कहा। जिससे पंचायतों के आय में वृद्धि हो। सभी गौठानों में कार्यरत समूहों को भी मछली पालन से जोडऩे के निर्देश दिए। जिले में सामान्य खपत के साथ ही आंगनबाड़ी केन्द्रों की आवश्यकता को देखते हुए मुर्गी पालन को भी व्यापक स्तर पर बढ़ाते हुए समूहों को इसमें शामिल करने के निर्देश दिए। उप संचालक पशुपालन विभाग ने बताया कि 45 गौठानों में मुर्गी पालन का काम शुरू कर दिया गया है तथा इसका दायरा भी बढाया जा रहा है।
बाड़ी से सब्जी सप्लाई के लिये किये जायेंगे कॉर्पोरेट टाईअप
कलेक्टर श्री सिंह ने घरघोड़ा के नर्सरी में लगने वाले मुनगा प्रोसेसिंग प्लांट के प्रगति की जानकारी ली। उन्होंने प्लांट निर्माण और विभाग तथा किसानों द्वारा किया जाने वाला मुनगा प्लांटेशन का काम साथ-साथ करने के लिये कहा जिससे प्लांट तैयार होते ही रॉ-मटेरियल भी उपलब्ध हो और किसान भी अपनी उपज बेच लाभ कमा सकें। सामुदायिक बाडिय़ों के साथ गौठानों में स्व-सहायता समूह द्वारा उगाई जाने वाली सब्जियों के खपत के लिये मार्केट तैयार करने प्लांट व उद्योगों जहां मेस संचालित हैं व जिनकी आवासीय कॉलोनियां हैं उनके साथ ही बड़े खरीददारों से टाईअप करने के निर्देश दिए। उद्योग विभाग को निर्देशित किया कि विभिन्न स्व रोजगार योजनाओं के अंतर्गत मिलने वाले सब्सिडी का लाभ स्व-सहायता समूह को मिले इसके लिये प्रकरण तैयार कर आवश्यक कार्यवाही करने के लिये कहा।
बैठक में सीईओ जिला पंचायत सुश्री ऋचा प्रकाश चौधरी, डीएफओ धरमजयगढ़ श्री एस. मणिवासगन, डीएफओ रायगढ़ श्री मनोज पाण्डेय सहित संबंधित विभागों के जिला स्तरीय अधिकारी व सभी विकासखण्डों के सीईओ जनपद शामिल रहे।

लाइव कैलेंडर

April 2021
M T W T F S S
 1234
567891011
12131415161718
19202122232425
2627282930  

LIVE FM सुनें