जल्द ही रायगढ़ जिला मुख्यालय होगा खेल ज़ोन हेडक्वॉर्टर– खेल मंत्री उमेश पटेल

  • रायगढ़ जिला प्रारम्भ से ही खेल और उससे जुड़ी प्रतिभाओं के लिए जाना जाता रहा है। इस जिले से खेल की हर विधा में एक से एक प्रतिभावान खिलाड़ी निकल कर समाने आये है,जिन्होंने सुविधाहीन परिस्थितियों में मेहनत कर भी जिले,राज्य और देश का नाम रौशन किया है। खिलाड़ियों ने बताया कि खेल जोन बनाने के साथ साथ पत्थलगांव के पीटीआई अनिल श्रीवास्तव के द्वारा रायगढ़ जिले के खिलाड़ियों से अभद्र एवं भेदभाव पूर्ण व्यवहार किये जाता है, जिसकी लिखित शिकायत इन्होंने उच्च शिक्षा मंत्री से की है।हालांकि तत्कालीन रायगढ़ जिला जिसमे जशपुर जिले भी शामिल था। छ ग राज्य निर्माण के समय से लेकर अब तक छठवें खेल जोन के रूप में दोनो जिलों का खेल जोन हेडक्वाटर रायगढ़ मुख्यालय में ही रहा है । यहां बिना भेद भाव के दोनो जिलों के खिलाड़ियों को आगे बढ़ने का समान अवसर और सुविधाएं मिलती रही है। जबकि बीते कुछ वर्षो पहले दोनो जिलों का खेल जोन हेड-क्वाटर
  • जशपुर को बना दिये जाने के बाद न केवल वहां बुनियादी सुविधाओं के अभाव से रायगढ़ जिले से जाने वाले खिलाड़ियों की परेशानियां बढ़ी है,जिससे निराश जिले के युवा खिलाड़ियों ने आज दिनांक 8 अक्टूबर 2019 को राज्य के उच्च शिक्षा एवं खेल युवा कल्याण मंत्री उमेश नन्द कुमार पटेल से उनके निज निवास नन्देली में मुलाकात कर अपनी समश्याओं से उन्हें अवगत कराया। जिस पर विचार करते हुए उच्च शिक्षा मंत्री ने उन्हें आश्वस्त किया कि जल्दी ही रायगढ़ जिला मुख्यालय को खेल जोन हेडक्वार्टर बना दिया जाएगा।[td_smart_list_end]