मुख्यमंत्री के गृह जिले की पीड़ित महिला इंजीनियर का मामला पहुँचा सी एम हाऊस…. पढ़िये रायगढ़ रिपोर्टर

मुख्यमंत्री के गृह जिले की पीड़ित महिला इंजीनियर का मामला पहुंचा सीएम हाउस छत्तीसगढ़ /रायपुर. बरमकेला जनपद पंचायत में पदस्थ उप अभियंता सोनल जैन का मामला अब मुख्यमंत्री तक पहुंच गया है। सोनल मुख्यमंत्री के गृह जिले दुर्ग की रहने वाली हैं। उनका कहना है कि राजनीतिक दबाव के चलते उनके साथ इंसाफ नहीं हो रहा है। इसलिए उन्होंने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से गुहार लगाई है। सीएम हाउस तक मामले पहुंचने के बाद अब पूरे रायगढ़ जिले सहित राज्य भर में यह चर्चा है कि मुख्यमंत्री अपने विधायक के प्रतिनिधि का साथ देंगे या फिर अपने जिले की बेटी के साथ इंसाफ करेंगे। जिले के कांग्रेसी नेता भी यह कह रहे हैं कि महिला इंजीनियर के साथ अन्याय हुआ है और उसे इंसाफ मिलना चाहिए, लेकिन पार्टी से बंधे होने के चलते कोई भी मामले में खुलकर नहीं बोल रहा है।

गौरतलब है कि उप अभियंता सोनल जैन और रायगढ़ विधायक प्रकाश नायक के प्रतिनिधि अरुण शर्मा के बीच ढनी लड़ाई काफी आगे तक पहुंच चुकी है। जहां एक तरफ सोनल यह आरोप लगा रही हैं कि एक महिला प्रताडि़त किया जा रहा है और उसका साथ उसका विभाग, पुलिस और प्रशासन तक नहीं दे रहा है। वहीं विधायक प्रतिनिधि अरुण शर्मा का कहना है कि महिला गलत आरोप लगा रही है। ऐसा वह इसलिए कर रही है कि उसकी गलतियों को नजरंदाज करके फिर से उसे उसकी पुरानी जगह पर पदस्थ कर दिया जाए, जिससे वह मनमानी पूर्वक कार्य कर सके। यह लड़ाई अब सीएम के दरबार में सुनवाई के लिए पहुंची है
महिला इंजीनियर ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को पत्र लिखा है। पत्र के माध्यम से उन्होंने रायगढ़ विधायक के प्रतिनिधि अरुण शर्मा के खिलाफ अश्लील और डबल मीनिंग बातें करने और अपनी मर्जी के मुताबिक उससे नाप जोख लिखवाने के लिए दबाव बनाने जैसे गंभीर आरोप लगाए हैं। पत्र में यह भी आरोप लगाया गया है कि उन्होंने सरिया थाने में इसकी लिखित शिकायत की है, लेकिन पुलिस ने भी कोई कार्यवाही नहीं की।