Raigarh Reporter

Latest Online Breaking News

उन्होने नैतिक मूल्यों से नहीं किया कभी कोई भी समझौता – उमेश पटेल*  *शहीद नंदकुमार पटेल वि.वि. रायगढ़ द्वारा आभासी श्रद्धांजलि कार्यक्रम आयोजित*  *वक्ताओं ने शहीद नंदकुमार पटेल के साथ बिताये पलो का साझा किया अनुभव*

*.

रायगढ़ । प्रत्येक व्यक्ति का कोई न कोई हीरो या आदर्श होता है जिसके अनुरूप वह अपने आप को बनाना चाहता है मेरे लिये मेरे पिता शहीद नंदकुमार पटेल ही मेरे हीरो रहे है। बचपन से लेकर अब तक मै उनके जैसा बनने का प्रयास करता रहा हॅू। राजनीति में बहुत से लोग आते है आते रहेंगें लेकिन अपने नैतिक मूल्यों से कभी समझौता नहीं करने वालों मे शहीद नंदकुमार पटेल शामिल थे। अपने 30 वर्ष के संसदीय अनुभव में उन्होने कभी भी नैतिक मूल्यां के साथ कोई समझौता नहीं किया और यही कारण है कि प्रत्येक चुनाव में उनके जीत का अंतर लगातार बढ़ता रहा। आम व खास
सभी व्यक्तियों के वे चहेते बने रहे इस तरह की काबिलियत सब में नही देखी जाती। उक्त बातें 25 मई को शहीद नंदकुमार पटेल के साथ शहीदों के लिए आयोजित आभासी श्रद्धांजली कार्यक्रम में उनके पुत्र एवं उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल ने अपना अनुभव साझा करते हुए मुख्य अतिथि के रूप में कही। शहीद नंदकुमार पटेल विश्वविद्यालय रायगढ़ द्वारा शहादत दिवस एवं पुण्यतिथि पर आभासी ऑनलाइन वर्चुअल श्रद्धांजलि कार्यक्रम का आयोजन 25 मई मंगलवार को किया गया इस आभासी श्रद्धांजलि
कार्यक्रम में आमंत्रित विशिष्ठ वक्ता के रूप में वरिष्ठ पत्रकार एवं संपादक सान्ध्य दैनिक बयार श्री सुभाष त्रिपाठी, जिला पंचायत अध्यक्ष निराकार पटेल एवं समाजसेवी तथा उद्यमी डॉ. विवेक बाजपेयी बिलासपुर
शामिल थे वही कार्यक्रम में उच्चशिक्षा मंत्री उमेश पटेल मुख्य अतिथि के रूम में अपनी भावनाएं साझा किये। कार्यक्रम की अध्यक्षता विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. डॉॅ. ललित प्रकाश पटैरिया द्वारा किया गया एवं अंत में आभार प्रदर्शन कुलसचिव प्रो.के.के.चंद्राकर द्वारा किया गया। ऑनलाइन पुण्य स्मरण एवं

श्रद्धांजलि कार्यक्रम के प्रारंम्भ में शहीद नंदकुमार पटेल के चित्र पर माल्यार्पण एवं पुष्प अर्पित कर राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्यक्रम समन्वयक एवं प्राचार्य शास. पी. डी. कार्मस एवं आर्टस कॉलेज डॉ. सुशील कुमार एक्का एवं महाविद्यालय परिवार के सदस्य तथा जिला पंचायत अध्यक्ष निराकार पटेल द्वारा विश्व विद्यालय परिवार की
ओर से श्रद्धांजलि अर्पित किया। कार्यक्रम का शुभारंभ कुलपति प्रो.डॉ.ललित प्रकाश पटैरिया द्वारा स्वागत उद्बोधन के साथ किया गया जिसमें उन्होने शहीद नंदकुमार पटेल के व्यक्तित्व और कृतित्व को समाज के लिए प्रेरक बताते हुए उनके सपनों के अनुरूप विश्वविद्यालय में कार्यक्रम एवं गतिविधियों को
सुव्यवस्थित संचालित करते हुए शहीद नंदकुमार पटेल विश्वविद्यालय को नई ऊँचाई एवं पहचान दिलाने का संकल्प लिया। ऑनलाईन श्रद्धांजलि कार्यक्रम के तकनीकी पक्ष का संचालन डिप्टी रजिस्ट्रार प्रकाश कुमार त्रिपाठी द्वारा एवं विशेष सहयोग सहायक रजिस्ट्रार शैलन्द्र दुबे के द्वारा किया गया। वहीं कार्यक्रम का संचालन राष्ट्रीय सेवा योजना के जिला संगठक भोजराम पटेल ने किया। इस कार्यक्रम में रायगढ़, जॉजगीर- चॉपा जिला के अतिरिक्त बिलासपुर, रायपुर एवं विभिन्न विश्वविद्यालय के अधिकारी, कर्मचारी एवं एनएसएस
के अधिकारी, स्वयंसेवक एवं जनप्रतिनिधि भी भारी संख्या में जुडे थे।
 *शहीद नंदकुमार पटेल मेरे राजनैतिक आदर्श – निराकर पटेल*
शहीद नंदकुमार पटेल राजनैतिक क्षेत्र में मेरे आदर्श, संरक्षक एवं पथ प्रदर्शक रहे है। उनके साथ
मुझे पहली बार ग्राम पंचायत का निर्विरोध सरपंच रहने का अवसर मिला था और उनके सानिध्य और
मार्गदर्शन नें मुझे बहुत कुछ सिखाया। उक्त बाते विशिष्ट अतिथि एवं वक्ता के रूप में आमंत्रित जिला पंचायत रायगढ़ के अध्यक्ष निराकार पटेल ने अपने उद्बोधन में कहीं जिला पंचायत अध्यक्ष ने शहीद
नंदकुमार पटेल के साथ बिताये पलों को साझा करते हुए उनके लोकप्रियता का बखान किया।
 *शहीद नंदकुमार पटेल के लिए राजनीति साध्य नहीं साधन था – सुभाष त्रिपाठी*
विशेष श्रद्धांजलि कार्यक्रम में रायगढ़ के वरिष्ठ पत्रकार सुभाष त्रिपाठी ने शहीद नंदकुमार पटेल के व्यक्तित्व, कृतित्व पर अपना विचार सुनाते हुए कहा कि उनके लिए राजनीति साध्य नही साधन था। वें अपने विधानसभा क्षेत्र को परिवार के तरह जानते थे एवं कठिनाईयों मे कभी विचलित नहीं हुए, गांव के अंतिम छोर पर व्यक्ति के समस्याओं को बखुबी अनुभव करते थे और वे सच्चे कर्मवीर की तरह काम करने वाले नेताओं में शामिल थे उनके शहादत ने रायगढ़ जिला ही नहीं पुरे प्रदेश और देश को झकझोर कर रख दिया। श्री सुभाष त्रिपाठी ने शहीद नंदकुमार पटेल के प्रथम चुनाव से लेकर पांचवे चुनाव तक विभिन्न अनुभवों को सुनाया।
 *शहीद नंदकुमार पटेल जैसा व्यक्तित्व नहीं देखा – डॉ. विवेक बाजपेयी*
विशेष श्रद्धांजलि कार्यक्रम में विशिष्ट वक्ता के रूप में आमंत्रित समाजसेवी एवं उद्यमी डॉ.विवेक बाजपेयी ने शहीद नंदकुमार पटेल के कार्यशैली, व्यव्हार कुशलता, समय के पाबंद, अपने करीबी लोगो के सुख-दुख की परख जैसे मानवीय मूल्यों का बखान करते हुए कहा कि मैने शहीद नंदकुमार पटेल जैसा व्यक्तित्व नहीं देखा उनकी योजनाएं मजबूत होती थी और वे सदैव विकल्प लेकर चलते थे। झीरम की घटना का मै प्रत्यक्ष गवाह रहा हॅू उस काला दिवस के कायराना हमला ने हमारे शहीद नंदकुमार पटेल के साथ उनके सुपुत्र दिनेश पटेल एवं कई वरिष्ठ नेताओं एवं हमारे अपनों को हमसे छीन लिया। मै उन सभी शहीदों को हार्दिक नमन एवं वंदन करता हॅू। शहीद नंदकुमार पटेल के नाम पर स्थापित विश्वविद्यालय उनके नैतिक मूल्यों एवं स्थापित परंपराओं को निर्वहन करते हुए युवाओं को एक नई दिशा प्रदान करेगा मुझे यही उम्मीद है।
 *कार्यक्रम मे इनकी रही विषेष सहभागिता -*
शहीद नंदकुमार पटेल, विश्वविद्यालय रायगढ़ के विशेष श्रद्धांजलि कार्यक्रम में राज्य एनएसएस अधिकारी डॉ.
समरेन्द्र सिंह, अटल बिहारी वाजपेयी विश्वविद्यालय, बिलासपुर के कार्यक्रम समन्वयक डॉ.मनोज सिन्हा, अधिष्ठाता हरिशंकर होता, दिल्ली विश्व विद्यालय से डॉ.रामनारायण पटेल राष्ट्रीय सेवा योजना के रायगढ़ एवं जॉजगीर-चॉपा जिला के जिला संगठक प्रो.भूपेन्द्र कुमार पटेल, राष्ट्रीय सेवा योजना के
कार्यक्रम अधिकारी गण, पूर्व जिला कांग्रेस अध्यक्ष नागेन्द्र नेगी, अनिल अग्रवाल, नवीन पटेल, अंतर्यामी चौधरी सहित विभिन्न महाविद्यालयों के प्राचार्य एवं विश्वविद्यालय के अधिकारी, कर्मचारियों की विशेष सहभागिता रही।

लाइव कैलेंडर

June 2021
M T W T F S S
 123456
78910111213
14151617181920
21222324252627
282930  

LIVE FM सुनें